दिल्ली-अलवर रूट पर लगी अंतिम मोहर, दो चरण में होगा रैपिड रेल प्रोजेक्ट का काम

0
12378

ललित यादव।  दिल्ली-अलवर रुट पर रैपिड रेल चलाने के लिए शनिवार को आखिरी मोहर लग चुकी है। इसमें पहले चरण में दिल्ली से आईएसबीटी से एसएमबी(शाहजहांपुर) और दूसरे फेज में एसएमबी से अलवर तक काम पूरा किया जाएगा।

इसके साथ ही एक अन्य चरण में शाहजहांपुर से सोतानाला जोड़ा जाएगा। इस पूरे प्रोजेक्ट पर करीब 37500 करोड़ रुपए खर्च होंगे। अगर लागत बढ़ती है तो इस प्रोजेक्ट पर 45 हजार 400 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। रूट का एलाइमेंट देखने के लिए एनसीआरटीसी की टीम अलवर आएगी।

दिल्ली कश्मीरी गेट आईएसबीटी से अलवर तक करीब 161 किलोमीटर लम्बे रूट पर रैपिड रेल दौडऩे का सपना अब हकीकत बन चुका है। इस रूट की डीपीआर फाइनल हो चुकी है। एनसीआरटीसी की टीम जल्द ही अलवर आएगी व रूट का एलाइमेंट चैक करेगी। कश्मीरी गेट से खेकड़ी दौला स्टेशन तक ट्रेन अंडर ग्राउड आएगी। जबकि खेकड़ी दौला से अलवर तक एलिवेटेड होगा।

104 मिनट में पूरा हो सकेगा अलवर से दिल्ली का सफर, परियोजना पूरी होने में लगेंगे 5 साल

बदलाव के बाद रूट

कश्मीरी गेट आईएसबीटी, दिल्ली सराय रोहिल्ला, धौलाकुआं, महिपालपुर, साइबर सिटी, इफ्को चौक, खेकड़ी दौला, मानेसर, पंचगांव, धारुहेड़ा, बीटीके, एमबीआईआर, रेवाड़ी, बावल, एसएमबी, खैरथल, व अलवर होगा।

दिल्ली से मुम्बई 3 घंटे 45 मिनट में

दिल्ली मुम्बई कॉरिडोर का काम तेज हो गया है। चीनी अधिकारियों का एक दल रेवाड़ी पहुंचा। उन्होंने बताया कि इस कॉरिडोर पर हाई स्पीड ट्रेन चलेगी। इस ट्रेन से दिल्ली से मुम्बई का सफर केवल 3 घंटे 45 मिनट का होगा। हाई स्पीड ट्रेन 350 से 400 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चलेगी। इस कॉरिडोर में माल गाड़ी चलेगी। इसका सबसे बड़ा हिस्सा राजस्थान व अलवर जिले मंे है। इस कॉरिडोर से देश के सभी प्रमुख औद्योगिक शहरों को जोड़ा जाएगा।

जल्द शुरू होगा काम

रविंद कुमार एनसीआर प्रोजेक्ट प्रभारी राजस्थान ने बताया कि अलवर रूट की डीपीआर तैयार हो चुकी है। एनसीआरटीसी प्रोजेक्ट पर काम कर रही है। एनसीआरटीसी का दल जल्द ही राजस्थान का सकता है। जल्द ही प्रोजेक्ट का काम शुरू होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here