सरपंचों ने ग्राम पंचायतों के खातों से निकाली राशि, कमेटी करेगी जांच

0
289

किशनगढ़बास। पंचायत समिति किशनगढ़बास क्षेत्र के सरपंच सरकार से भी दो कदम आगे निकले। सरकार के एक अप्रैल से ऑनलाइन भुगतान प्रक्रिया के आदेश मिलते ही सरपंचों ने आनन-फानन में बैंकों में जमा ग्राम पंचायतों का पैसा निकाल लिया और यह मालूम होते हुए भी अधिकारी चुप्पी लगाए बैठे रहे।

जब यह बात राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बनी तो अधिकारी ने पंचायतों की बैंक पासबुक आदि दस्तावेजों की जांच करने के लिए कमेटी गठित की है। जांच कमेटी बैठाए जाने से सरपंचों में खलबली मची हुई है। पंचायती राज विभाग ने 1 अप्रैल से सभी ग्राम पंचायतों में भुगतान टैंडर की प्रक्रिया को ऑनलाइन करने के अादेश जारी किए थे।

पंचायती राज विभाग के आदेश मिलते ही सरपंचों ने आनन-फानन में बैंकों में जमा पंचायत विकास के पैसों को निकाल लिया। बैंक खातों से पैसा निकालने की बात अधिकारियों को मालूम थी लेकिन अधिकारी चुप्पी लगाए बैठे थे। जब यह बात राजनीतिक गलियारों में लोगों की जुबान पर चर्चा बनी तो विकास अधिकारी ने 21 अप्रैल को पंचायतों की बैंक पासबुक आदि दस्तावेजों की जांच के लिए पंचायत प्रसार अधिकारी पप्पूराम गुप्ता, राकेश कुमार भारद्वाज, मुकेश माहौर, रामप्रसाद, बिजेंद्र सिंह नरूका को जांच करने के आदेश दिए।
विकास अधिकारी सुरेश बाघोरिया ने बताया कि पंचायतों के बैंक खातों की जांच के लिए कमेटी गठित की है। लेकिन सरकार के पट्टा शिविर अभियान के कारण जांच में समय लग रहा है। पंचायतों पर ऑनलाइन भुगतान के आदेश अप्रैल से होने की बजाय अब सरकार ने 1 अगस्त से लागू करने के आदेश जारी किए हैं। सरकार के आदेश मुताबिक भजेड़ा पंचायत एक अप्रैल से ऑनलाइन किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here