मोदी सरकार ने दिया था इमरान खान को आजीवन फ्री वाई-फाई, पड़ा है 6 माह से ठप

मोदी सरकार ने दिया था इमरान खान को आजीवन फ्री वाई-फाई, पड़ा है 6 माह से ठप

लंदन के वेम्बले स्टेडियम से 13 नवंबर 2015 की रात अपने संबोधन में हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलवर के इमरान का जिक्र किया था। कहा था- इमरान में उनका हिंदुस्तान बसता है। आज उसी इमरान का संपर्क हिंदुस्तान और दुनिया से टूट रहा है। वजह है सरकार का झूठा वादा। उससे कहा गया था कि उसे सरकार की तरफ से आजीवन फ्री इंटरनेट मिलेगा, लेकिन अब करीब 6 माह से फ्री कनेक्शन ठप पड़ा है।

Hon'ble Union Minister Law and Justice & Information Technology Mr. Ravi Shankar Prasad in Apki Adalat India TV.Talking about us.

Posted by Imran Khan on Sunday, July 16, 2017

दरअसल, अपनी मेहनत और बिना किसी आर्थिक सहयोग के 50 एप बनाकर सरकार को जनता के लिए सौंपने पर मोदी ने उनकी तारीफ की थी। इसके बाद अगले ही दिन मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ट्वीट किया था कि इमरान को आजीवन फ्री इंटरनेट सेवा बीएसएनएल की ओर से दी जाएगी।

सरकार को फ्री में ऐप बनाकर देने वाले इमरान खां को सरकार ने फ्री इंटरनेट सेवा दी थी। बीएसएनएल का ये कनेक्शन 6 महीनों से खराब है। शिकायत के बावजूद बीएसएनएल के अधिकारियों ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया है। जिसके चलते इमरान का ऐप बनाने का काम प्रभावित हो रहा है।

फिलहाल इमरान निजी कंपनी का इंटरनेट का इस्तेमाल कर ऐप बनाने का काम कर रहे हैं। हाल ही में इमरान ने केंद्र सरकार को जीएसटी ट्रेनिंग ऐप बना कर दिया है। जबकि राज्य सरकार को राजस्थान टूरिज्म ऐप, ईजी योगा ऐप बना कर दिया है। इमरान अब तक सरकार को फ्री में 72 फ्री ऐप बनाकर दे चुके हैं।

रविशंकर प्रसाद के ट्वीट के बाद BSNL के जीएम आई एम अरुण कुमार शर्मा अपनी टीम के साथ इमरान के निवास अलवर के लक्ष्मी नगर पहुंचे थे और उन्हें फ्री कनेक्शन उपलब्ध कराया था। जिसको एमआईए BSNL से मोबाइल टावर से जोड़ा गया था। इस क्षेत्र में बीएसएनएल की लैंडलाइन सेवा नहीं होने की वजह से वाईमैक्स के जरिये इसके साथ जोड़ा गया था। मोबाइल टावर की अधिक दूरी के चलते कई बार समस्या आई थी लेकिन पिछले 6 महीनों से इंटरनेट कनेक्शन पूरे तरीके से बंद पड़ा हुआ है। शिकायत के बाद BSNL के अधिकारी करीब 500 मीटर दूर स्थित हाई-वे से उनके आवास तक ऑप्टिकल फाइबर बिछाने का आश्वासन दे रहे हैं लेकिन 3 महीने से अधिक समय बीत जाने पर भी काम पूरा नहीं हो पाया।

 

LALIT YADAV

ललित यादव  'The Alwar News' के फाउंडर है। ऑनलाइन पत्रकारिता में काम करने का पांच वर्ष का अनुभव है। दिल्ली के कई मीडिया संस्थान में काम करने का अनुभव है।
Shares
error: Content is protected !!