Alwar: 16 में से सिर्फ 5 पंचायत समिति में स्पष्ट बहुमत, बाकी जोड़-तोड़ से बनेंगे प्रधान

Alwar: 16 में से सिर्फ 5 पंचायत समिति में स्पष्ट बहुमत, बाकी जोड़-तोड़ से बनेंगे प्रधान

Alwar: पंचायत चुनाव के डेलीगेट के परिणाम आ गए हैं। अलवर जिले में कुल 352 में सबसे ज्यादा 134 वार्डों में कांग्रेस, 119 में बीजेपी व 98 वार्डों में निर्दलीय को जीत मिली है। 16 में से केवल 5 पंचायत समिति ऐसी हैं, जहां पार्टी को स्पष्ट बहुमत मिले हैं। मतलब वहां बहुमत वाली पार्टी का प्रधान बनना करीब-करीब तय है। इसमें 4 जगह कांग्रेस और एक जगह भाजपा को बहुमत मिला है। शेष 11 स्थानों पर निर्दलियों के जोड़-तोड़ से प्रधान की कुर्सी मिल सकेगी।

जिले में एक तरफ कमल, दूसरी तरफ हाथ
पंचायत चुनाव के परिणाम ने जिले को दो भागों में बांट दिया। एक तरफ मुण्डावर, नीमराणा, बहरोड़, तिजारा व बानसूर के राठ क्षेत्र में भाजपा के डेलीगेट अधिक जीते हैं। इन सब जगहों पर भाजपा का ही प्रधान बनने की संभावना है। दूसरी तरफ रामगढ़, लक्ष्मणगढ़, रैणी, थानागाजी, उमरैण व मालाखेड़ा में कांग्रेस का प्रधान बनना करीब-करीब तय है। गोविंदगढ़ में भाजपा की सीट अधिक है। प्रधान के लिए उठापटक जारी है।

कहां से किसे बहुमत मिलने के आसार
बहरोड़- भाजपा प्लस निर्दलीय
नीमराणा– भाजपा प्लस निर्दलीय
मुण्डावर– भाजपा स्पष्ट बहुमत
तिजारा- भाजपा प्लस निर्दलीय
बानसूर- भाजपा प्लस निर्दलीय
गोविंदगढ़- भाजपा प्लस निर्दलीय
राजगढ़– भाजपा प्लस निर्दलीय

यहां कांग्रेस आगे
रामगढ़- कांग्रेस स्पष्ट बहुमत
लक्ष्मणगढ़– कांग्रेस प्लस निर्दलीय
रैणी– कांग्रेस प्लस निर्दलीय
थानागाजी- कांग्रेस स्पष्ट बहुमत
उमरैण- कांग्रेस स्पष्ट बहुमत
मालाखेड़ा – कांग्रेस प्लस निर्दलीय
किशनगढ़बास- कांग्रेस स्पष्ट बहुमत

कठूमर, कोटकासिम सहित कई जगहों पर भाजपा-कांग्रेस में एक-दो सीट का अंतर है। यहां कांग्रेस और भाजपा दोनों में से कोई भी बोर्ड बना सकती है। यहां चुनाव बाद ही कुछ स्पष्ट हो पाएगा।

कांग्रेस कहां बीजेपी से आगे
रामगढ़, लक्ष्मणगढ़, मालाखेड़ा, थानागाजी, किशनगढ़बास, रैणी, उमरैण में कांग्रेस बीजेपी से काफी आगे है। यहां कांग्रेस का प्रधान बनना करीब-करीब तय है।

बीजेपी यहां कांग्रेस से आगे
तिजारा, गोविंदगढ़, राजगढ़, कोटकासिम, मुण्डावर, बहरोड़, नीमराणा, कठूमर व बानसूर से बीजेपी के कांग्रेस से ज्यादा डेलीगेट जीते हैं।

अब निर्दलीय कहां दोनों से आगे
लक्ष्मणगढ़ व नीमराणा में बीजेपी व कांग्रेस दोनों से अधिक निर्दलीय जीते हैं।

यहां दोनों पार्टियों में से कोई भी प्रधान बना सकती है
कठूमर, बानसूर, बहरोड़, गोविंदगढ़ व तिजारा में भाजपा की सीट अधिक हैं। प्रधान बना सकते हैं, लेकिन यहां निर्दलियों ने कांग्रेस को समर्थन कर दिया तो कांग्रेस का प्रधान सकता है।

LALIT YADAV

ललित यादव  'The Alwar News' से जुड़े हैं। ऑनलाइन पत्रकारिता में काम करने का पांच वर्ष का अनुभव है। दिल्ली के कई मीडिया संस्थान में काम कर चुके हैं।
Shares